क्या नया है

Signप्रैस विज्ञप्ति - एन.एफ़.एल. का सी.एस.आर. के तहत सेना झण्डा दिवस निधि में योगदान 

Signनिदेशक मण्डल की बैठक की सूचना - 02.05.2018 

Signट्रेडिंग विंडो का समापन 

Signएनएफएल ने 2017-18 में किया सर्वाधिक उत्पादन 

Signएनएफएल को पीआरसीआई द्वारा गृह पत्रिका के लिए पुरस्‍कार 

Signदिसम्बर 2017 तिमाही के लिए वित्तीय निष्पादन 

Signनिदेशक (वित्‍त) को एनएफएल के वित्‍तीय प्रबंधन के लिए 'सीए विशिष्ट उपलब्धि पुरस्‍कार' से पुरस्कृत किया गया  

Signएनएफएल ने तीसरी तिमाही (2017-18) तक 231 करोड़ रुपए का लाभ अर्जित किया  

Signएनएफ़एल ने 69वां गणतन्त्र दिवस मनाया 

Sign31.12.2017 को समाप्त हुए तिमाही के लिए अंकेक्षित परिणाम. एवम प्रेस विग्यप्त्ति्त 

Signप्रेस विज्ञप्ति : एनएफएल द्वारा प्रायोजित पैरा प्लेयर्ज ने भारत का गौरव बढाया  

Signसी०एस०आर० के अन्तर्गत अलीगढ जिले की खैर तहसील में दिव्यांगों के लिये आयोजित कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण वितरण कार्यक्रम 

Signप्रैस विज्ञप्ति - एन.एफ.एल. ने वित्त वर्ष 2016-17 के लिये लाभांश घोषित किया।  

Signमाननीय अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक महोदय का संदेश 2017 

Signएन.एफ.एल. ने नवीन भारत संकल्प पर छायाचित्र प्रदर्शनी आयोजित की 

Signएन एफ एल ने 2017-18 में 38 लाख मीट्रिक टन यूरिया का उत्पादन करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए 

Signप्रैस विज्ञप्ति : हिन्दी प्रयोग के लिए एन.एफ.एल. को पुरस्कार  

Signप्रैस विज्ञप्ति : एनएफ़एल ने तीसरा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया 

Signवित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए अंकेक्षित वार्षिक लिखे | 

Signप्रैस विज्ञप्ति: वित्तीय वर्ष 2016-17 में एन.एफ.एल. को हुआ लाभ. 

निविदा लाइव

एन. एफ. एल. - एक 'मिनी रत्न' कंपनी मे आपका स्वागत है।

नेशनल फर्टीलाइजर्स लिमिटेड, एक अनुसूची ‘क’ और मिनीरत्‍न (श्रेणी-।) कम्‍पनी, जिसका पंजीकृत कार्यालय नई दिल्‍ली में है, का निगमीकरण 23अगस्‍त 1974को हुआ था। इसका निगमित कार्यालय नोएडा (उत्‍तर प्रदेश) में है। इसकी प्राधिकृत पूंजी 1000 करोड़ रुपए और प्रदत्‍त पूंजी 490.58 करोड़ रुपए है जिसमें से भारत सरकार की हिस्‍सेदारी 74.71% है और 25.29% हिस्‍सेदारी वित्‍तीय संस्‍थाओं और अन्‍यों द्वारा धारित है।

और अधिक पढ़ें >>>>

प्रबन्ध निदेशक का संदेश

CMD Photoहमारे सभी प्रयासों का उद्देश्‍य कृषक समुदाय का साझेदार बनकर राष्‍ट्र की सेवा करना है....
और अधिक पढ़ें >>>>