क्या नया है

Sign निदेशक मण्डल की बैठक के आयोजन के संबंध में सूचना

Sign 44 वीं वार्षिक आम बैठक, बुक क्लोज़र और रिमोट ई-वोटिंग जानकारी हेतु संशोधित सूचना

Sign 14th सितम्बर, हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में माननीय अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का संदेश

Sign प्रैस विज्ञप्ति - 44 वीं वार्षिक आम बैठक, बुक क्लोज़र और रिमोट ई-वोटिंग जानकारी हेतु संशोधित सूचना

Signप्रैस विज्ञप्ति - एनएफएल में स्वच्छता पखवाडे का शुभारंभ 

Signआर एफ सी एल उत्पादनों के वितरण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया जाना 

Signएन.एफ.एल का पहली तिमाही में 66% लाभ बढा 

Signप्रैस विज्ञप्ति : एन.एफ.एल. ने जीता सर्वश्रेष्ठ पीएसयू पुरस्कार 

Signप्रैस विज्ञप्ति : एन.एफ.एल. को मिला राजभाषा (हिन्दी) प्रयोग के लिए तृतीय पुरकार  

Signप्रैस विज्ञप्ति : एनएफएल द्वारा प्रायोजित पैरा एथलीटों ने राष्ट्रीय चैंपियनशिप में 6 पदक  

Signएनएफएल ने उर्वरक विभाग के साथ ज्ञापन समझौते पर हस्ताक्षर किए (2018-19) 

Signवित्‍तीय‍ परिणाम 2017-2018 

Signप्रेस नोट - एन.एफ.एल. हिन्दुस्तान पीएसयू अवार्ड 2018 से सम्मानित 

Signस्वच्छ भारत समर इंटर्न 

Signवार्षिक वित्तीय परिणाम 2017-18 का मीडिया कवरेज 

Signप्रेस नोट - एनएफएल ने 2017-18 के दौरान रु. 212.77 करोड़ का नेट लाभ अर्जित किया 

निविदा लाइव


श्री नरेंद्र मोदी
माननीय प्रधान मंत्री

श्री अनंत कुमार
माननीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री
तथा संसदीय कार्य मंत्री

श्री राव इन्द्रजीत सिंह
माननीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) योजना मंत्रालय  
तथा राज्य मंत्री रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय 

श्री मनसुख एल. मांडविया
माननीय राज्य मंत्री सड़क परिवहन एवं राजमार्ग,
 जहाजरानी, रसायन एवं उर्वरक


एन. एफ. एल. - एक 'मिनी रत्न' कंपनी मे आपका स्वागत है।

नेशनल फर्टीलाइजर्स लिमिटेड, एक अनुसूची ‘क’ और मिनीरत्‍न (श्रेणी-।) कम्‍पनी, जिसका पंजीकृत कार्यालय नई दिल्‍ली में है, का निगमीकरण 23अगस्‍त 1974को हुआ था। इसका निगमित कार्यालय नोएडा (उत्‍तर प्रदेश) में है। इसकी प्राधिकृत पूंजी 1000 करोड़ रुपए और प्रदत्‍त पूंजी 490.58 करोड़ रुपए है जिसमें से भारत सरकार की हिस्‍सेदारी 74.71% है और 25.29% हिस्‍सेदारी वित्‍तीय संस्‍थाओं और अन्‍यों द्वारा धारित है।

और अधिक पढ़ें >>>>

प्रबन्ध निदेशक का संदेश

CMD Photoहमारे सभी प्रयासों का उद्देश्‍य कृषक समुदाय का साझेदार बनकर राष्‍ट्र की सेवा करना है....
और अधिक पढ़ें >>>>