शिकायत दर्ज करने के लिए दिशा-निर्देश

1. शिकायत, किसी भी व्यक्ति, कर्मचारी अथवा कम्पनी के साथ कारोबार करने वाले किसी वैंडर द्वारा दर्ज की जा सकती है|

2. शिकायत, तथ्यों के प्रासंगिक विवरण के साथ विशिष्ट होनी चाहिये |

3. शिकायत के सत्यापन तथा उस पर आगामी कार्रवाई हेतु संपर्क करने के लिये शिकायतकर्ता का नाम और पता अनिवार्य हैं ।

4. इस वैबसाइट के माध्यम से प्राप्त सभी शिकायतें कारपोरेट कार्यालय स्थित सतर्कता विभाग के शिकायत बाक्स में भेजी जायेंगी |

5.शिकायतकर्ता को, उसके द्वारा दर्ज की गई प्रत्येक शिकायत के लिये एक विशिष्ट पहचान संख्या उसके ई-मेल  के माध्यम से भेजी जायेगी | इसलिये, शिकायत के साथ वैध तथा चालू ई-मेल आईडी का उल्लेख अवश्य किया जाये | 

6.सतर्कता विभाग द्वारा केवल उन्हीं शिकायतों की जांच की जायेगी जिनमें सतर्कता ऐंगल होगा | जिन शिकायतों में सतर्कता ऐंगल नहीं होगा, उन्हें आगामी कार्रवाई के लिये  कारपोरेट कार्यालय के मानव संसाधन विभाग को भेज दिया जायेगा |  

7. शिकायत का स्टेटस, ‘स्टेटस’  विंडो में शिकायत की पहचान संख्या दर्ज करके प्राप्त किया जा सकता है।  

8. शिकायत दर्ज करने के बाद शिकायत से संबंधित विषय पर किसी अन्य पत्राचार पर विचार नहीं किया जायेगा |

9. शिकायत दर्ज करने से पहले पंजीकृत करें |

यहां पंजीकृत करें पंजीकृत यूजर के लिये लॉगिन कार्यालय के प्रयोग के लिये


 

क्या नया है

Signएनएफएल ने उर्वरक विभाग के साथ ज्ञापन समझौते पर हस्ताक्षर किए (2018-19) 

Signवित्‍तीय‍ परिणाम 2017-2018 

Signप्रेस नोट - एन.एफ.एल. हिन्दुस्तान पीएसयू अवार्ड 2018 से सम्मानित 

Signस्वच्छ भारत समर इंटर्न 

Signवार्षिक वित्तीय परिणाम 2017-18 का मीडिया कवरेज 

Signप्रेस नोट - एनएफएल ने 2017-18 के दौरान रु. 212.77 करोड़ का नेट लाभ अर्जित किया 

Signनिविदा सूचना - स्टॅटे ऑफिस शिमला के लिये कर्यालय किराये पर लेने हेतु & प्रेस विग्यप्ति 

Signप्रैस विज्ञप्ति - एन.एफ़.एल. का सी.एस.आर. के तहत सेना झण्डा दिवस निधि में योगदान 

Signनिदेशक मण्डल की बैठक की सूचना - 02.05.2018 

Signट्रेडिंग विंडो का समापन 

Signएनएफएल ने 2017-18 में किया सर्वाधिक उत्पादन 

Signएनएफएल को पीआरसीआई द्वारा गृह पत्रिका के लिए पुरस्‍कार 

Signदिसम्बर 2017 तिमाही के लिए वित्तीय निष्पादन 

Signनिदेशक (वित्‍त) को एनएफएल के वित्‍तीय प्रबंधन के लि